ताइवान एयरस्पेस में घुसे 20 चीनी जेट्स, दूसरे दिन भी जारी रहा मिलिट्री ड्रिल

जनादेश/बेइजिंग: चीन ने ताइवान के पास दूसरे दिन का सैन्य अभ्यास शुरू कर दिया है। इस दौरान चीनी विमान फिर से ताइवान के हवाई क्षेत्र में घुस गए। ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि 20 चीनी युद्धक विमानों और 10 युद्धपोतों ने शुक्रवार सुबह ताइवान जलडमरूमध्य की मध्य रेखा को पार किया। वे जानबूझकर ताइवान जलडमरूमध्य को पार करने की कोशिश कर रहे हैं। हमने एहतियात के तौर पर मिसाइल सिस्टम तैनात किए हैं। हम चीन की गतिविधियों पर लगातार नजर रखे हुए हैं। कुछ विमान और जहाजों को निगरानी के लिए भेजा गया है। चीनी सेना ताइवान के आसपास के 6 इलाकों में ये सैन्य अभ्यास कर रही है। सैन्य अभ्यास के पहले दिन, 100 से अधिक चीनी युद्धक विमानों ने उत्तरी, दक्षिण-पश्चिमी और दक्षिण-पूर्वी ताइवान के हवाई क्षेत्र में उड़ान भरी।

दरअसल अमेरिकी संसद की स्पीकर नैंसी पेलोसी के ताइवान दौरे से चीन और ताइवान के बीच विवाद और तेज हो गया था। पेलोसी दो अगस्त को ताइवान पहुंची थी। उनके वापस लौटते ही चीन ने 4 अगस्त को ताइवान के पास सैन्य अभ्यास शुरू कर दिया। अपने हिस्से के लिए, नैन्सी पेलोसी ताइवान का दौरा करने के बाद जापान पहुंचीं। उन्होंने चीनी सैन्य अभ्यास की निंदा की। पेलोसी ने कहा अमेरिकी अधिकारियों को ताइवान की यात्रा करने से रोककर चीन ताइवान को अलग-थलग नहीं कर सकता। हम ताइवान को अलग-थलग नहीं होने देंगे। अमेरिका चीन को ऐसा करने से रोकेगा। यह अभ्यास 7 अगस्त तक चलेगा।

सैन्य अभ्यास के पहले दिन, 100 से अधिक चीनी युद्धक विमानों ने उत्तरी, दक्षिण-पश्चिमी और दक्षिण-पूर्वी ताइवान के हवाई क्षेत्र में उड़ान भरी। 11 डोंगफेंग बैलिस्टिक मिसाइलें भी ताइवान के उत्तरपूर्वी और दक्षिण-पश्चिमी तट के पास दागी गईं। चीन द्वारा दागी गई पांच बैलिस्टिक मिसाइलें जापान के विशेष आर्थिक क्षेत्र में उतरीं। जापानी रक्षा मंत्री नोबुओ किशी ने कहा कि राजनयिक चैनल के माध्यम से विरोध दर्ज कराया गया था। चीन ने इस सैन्य अभ्यास को ‘लाइव फायरिंग’ कहा है। चीनी राज्य मीडिया के अनुसार, यह सैन्य अभ्यास ताइवान के तट से महज 16 किमी दूर हो रहा है। इसमें असली तोपों और गोला-बारूद का इस्तेमाल किया जाता है। पहले चीन ताइवान से करीब 100 किलोमीटर दूर यह कवायद करता था, लेकिन नैंसी के दौरे के बाद अब यह काफी करीब आ गया है।