सीवान:– उदयीमान भगवान सूर्य को अर्घ्य के साथ संपन्न हुआ कार्तिक छठ

अंकित कुमार

सीवान:– चार दिनों तक चलने वाले कार्तिक छठ के चौथे दिन उगते सूर्य को अर्ध्य देने के साथ महापर्व संपन्न हो गया। श्रद्धालुओं ने घाट पर उगते सूर्य की पूजा की। महापर्व के अवसर पर लाखों लोग अलग अलग घाटों पर इकट्ठा हुए थे। छठ को लेकर शहर से लेकर ग्रामीण क्षेत्रो मे नदीयो व तालाबो के घाटों को सजया सवांरा गया था। छठ घाट पर व्रतियो के लिए इंतजाम बेहतर दिखे। वहीं पुलवा घाट, शिवव्रत साह घाट, शास्त्री नगर घाट, महादेवा घाट, मिशन घाट, रामदेव नगर घाट, पंचममंदिरा पोखरा, गांधी मैदान पोखरा सहित तमाम छठ घाटों पर व्रतियों की सुविधा के लिए व्यवस्था देखने को मिली। वहीं किसी अप्रिय घटना से निपटने के लिए घाटों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। पुलिस बल के साथ गोताखोरों की भी टीम मौजूद थी। सीवान शहर के साथ साथ जिले के सभी जगहों पर घाट की तरफ जाने वाले रास्तों पर साफ सफाई की गई। छठव्रतियों की आस्था को लेकर हर रास्ते पर पानी का भी छिड़काव किया गया।नगर पालिका द्वारा सभापति सिंधु सिंह व उपसभापति बबलू साह के नेतृत्व में नगर पालिका की टीम 4 दिनों से सफाई व्यवस्था में लगी हुई थी। छठव्रतियों ने कुल 36 घंटे के बाद उपवास खोला। खरना की शाम प्रसाद खाने के बाद व्रती उगते सूर्य को अर्ध्य देने के बाद ही प्रसाद खाकर व्रत खोलते हैं। बता दें कि छठ कुल चार दिनों तक चलने वाला महापर्व है। नहाय खाय से इसकी शुरुआत होती है। दूसरे दिन खरना के बाद तीसरे दिन लोग अस्ताचलगामी सूर्य को अर्ध्य देते हैं। चौथे दिन उगते सूर्य को अध्य देने के साथ पर्व संपन्न हो जाता है। सूर्य षष्ठी व्रत होने के कारण इसे छठ कहा गया है। रामायण और महाभारत में इस पर्व को लेकर कई कहानियां हैं। बिहार, उत्तर प्रदेश के साथ साथ देश में छठ को लोग बड़े उत्साह के साथ मनाते हैं।