सदर एसडीएम ने निबंधन कार्यालय की निरीक्षण

एसडीएम को अवैध वसूली की मिली थी सूचना

गोपालगंज:– निबंधन कार्यालय में दलालों से जमीन की रजिस्ट्री व रजिस्ट्री के नाम पर अवैध वसूली की एसडीएम को शिकायत मिलने पर एसडीएम ने कार्यालय का औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कार्यालय में कई तरह की अनियमितता भी सामने आई। इसके अलावा मौके पर मौजूद सभी स्टाम्प वेंडरो का स्टॉक रजिस्टर का मिलान करने पर भी बड़े पैमाने पर गड़बड़ी सामने आई है। जिसको लेकर सदर एसडीएम ने निबंधन पदाधिकारी को जमकर फटकार लगायी। जानकारी के मुताबिक जिले के सभी रजिस्ट्री ऑफिस चाहे वह गोपालगंज हो, मीरगंज हो, फुलवरिया हो या फिर सिधवलिया का रजिस्ट्री कार्यालय हो। हर जगह का आलम यह है कि बैनामे के समय रजिस्ट्री विभाग के बाबू और सब-रजिस्ट्रार द्वारा दस्तावेज लेखकों के जरिए स्टाम्प शुल्क की पेंच से 7 प्रतिहजार सुविधा शुल्क के नाम पर दस्तावेज लिखते समय ही जमा करवा लिया जाता है। अगर कोई 5 से 7 प्रतिहजार का सुविधा शुल्क देने में आनाकानी करता है, तो विभागीय4 कर्मचारियों और अधिकारियों द्वारा उसे नियमों का पाठ पढ़ाते हुए इतना भयभीत कर दिया जाता है कि खरीदने वाला डर के मारे 5 से 7 प्रतिहजार की सुविधा शुल्क देने के लिए मजबूर हो जाता है।

कमीशन के नाम पर रोज होती लाखों की वसूली

जिला मुख्यालय से लेकर प्रखंड के रजिस्ट्री आफिस में जहां कर्मचारी आदेश को पतीला लगा रहे  हैं। निबंधन कार्यालय, राजस्व विभाग का वह ईमानदार कमाऊ पूत कार्यालय है, जहां से प्रतिदिन खुलेआम लाखों रूपयों का अवैध दोहन जनता से किया जाता है, लेकिन इतिहास गवाह है कि कभी इस ईमानदार विभाग की तरफ जिले के किसी बड़े अधिकारी ने नजरें उठाकर देखने की तकलीफ नहीं की। हर एक रजिस्ट्री पर रजिस्टार संग बबुआ का होता है कमीशन। कमीशन के चक्कर मे पिस्ते है जमीन मालिक और खरीददार। खरीददार के तो पसीने निकल जाते हैं जमीन खरीदने में। एक तो जितना का जमीन खरीदिये, उसके मूल्य के मुताविक सरकार को राजस्व भरिये, उसके बाद रजिस्ट्री ऑफिस के कर्मचारियों का जेब भरिये, फिर होगा रजिस्ट्री। वहीं सूत्रों की माने तो ऊपर से लेकर नीचे तक अधिकारियों तक पहुंचता है कमीशन का पैसा। इनके खिलाफ ना कोई बोलने को तैयार है, ना ही ऐसी अवैध वसूली पर कोई हुक्मरान लगा पता है। यहां तो वही कहावत याद आती है। “हर शाख पे उल्लू बैठे हैं अंजाम गुलिस्ता क्या होगा”कार्रवाई नही होने की इस्थिति में ऐसे बाबुओं और सरकारी कर्मचारियों का मनोबल दिन प्रतिदिन दिन बढ़ते जा रहा है।

क्या कहती है सदर एसडीएम

सदर एसडीएम वर्षा सिंह ने बताया कि उन्हें सुचना मिली थी कि गोपालगंज रजिस्ट्री कार्यालय में कई अनधिकृत ओपेरटर के द्वारा जमीन रजिस्ट्री में जमकर पैसे की अवैध वसूली की जा रही है। इसी शिकायत के बाद उन्होंने कार्यालय का निरीक्षण कर मौके पर मौजूद सभी ऑपरेटरों के कागजात की जाँच की। इसके अलावा रजिस्ट्री कचहरी में मौजूद सभी स्टाम्प वेंडर रजिस्टर्ड नहीं है। जो रजिस्टर्ड थे उनका स्टाम्प स्टॉक भी सही नहीं है। सभी लोगो ने स्टॉक रजिस्टर मेन्टेन करने के साथ सभी कागजात सही करने के कलिए एक सप्ताह का समय दिया गया है। अगर एक सप्ताह के बाद भी यहाँ की व्यवस्था दुरुस्त नहीं हुई तो अवैध रूप से कार्य करने वालो और लापरवाह लोगो के खिलाफ कार्यवाई करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया जायेगा।