यमुना के खास घाटों पर ही करें छठ पूजा, उपराज्यपाल के खास निर्देश

जनादेश/दिल्ली: छठ पूजा का त्योहार आने वाले है। जिसके तहत उपराज्यपाल वीके सक्सेना ने बुधवार को यमुना पर निर्दिष्ट घाटों पर ही छठ पूजा करने को मंजूरी दी। इस दौरान उन्होने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से छठ पूजा को लेकर भक्तों के लिए साफ घाट और पानी सुनिश्चित करने को कहा।

एलजी द्वारा अरविंद केजरीवाल को “भ्रामक और समय से पहले प्रचार” के खिलाफ भी आगाह किया। जानकारी के मुताबिक,उपराज्यपाल के निर्देश केजरीवाल के उस ट्वीट के जवाब में आए, जिसमें उन्होंने कहा था कि यमुना पर कहीं भी पूजा हो सकती है। और इससे लोगों में भ्रम की स्थिति पैदा हो रही है।

बता दें कि एलजी के सचिवालय कार्यालय ने कहा, “एलजी द्वारा स्वीकृत छठ पूजा का प्रस्ताव नामित घाटों के लिए विशिष्ट था – केजरीवाल ने ट्वीट किया कि यमुना पर कहीं भी पूजा हो सकती है, जिससे लोगों में भ्रम पैदा हो रहा है।”

दरअसल इस साल 28-31 अक्टूबर के बीच मनाए जाने वाले छठ पर्व के दौरान लोग सूर्य देव की पूजा करेंगे। छठ पूजा बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश में सबसे शुभ त्योहारों में से एक है। चार दिनों तक चलने वाला यह उत्सव ‘नहाए खाए’ की रस्म से शुरू होता है और ‘उषा अर्घ्य’ (उगते सूरज की प्रार्थना) के साथ समाप्त होता है।

यह त्योहार सूर्य भगवान (सूर्य भगवान) को समर्पित है, जिसके बारे में लोग मानते हैं कि यह पृथ्वी पर जीवन का निर्वाह करता है.