पुल हादसे पर अमेरिकी राष्ट्रपति ने जताया शोक, पीएम मोदी जाएंगे मोरबी

जनादेश/अहमदाबाद: मुरबी पुल हादसे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को गुजरात के मोरबी जाएंगे। बता दें कि मच्छु नदी पर बने एक पुल के टूटने से 134 लोगों की मौत हो गई है।जिसमें 9 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी हैं। गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले राज्य के दौरे पर आए मोदी ने इस हादसे में मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी। और घोषणा की वह मंगलवार दोपहर को मोरबी का दौरा करेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री गुजरात के पंचमहल जिले के जंबुघोड़ा में विभिन्न विकास परियोजनाओं का भी उद्घाटन करेंगे।

बता दें कि घटनास्थल पर खोज और बचाव कार्य जारी है। दरअसल पीएम मोदी की अध्यक्षता में गांधीनगर राजभवन में एक उच्च स्तरीय बैठक हुई। जिसमें त्रासदी में मारे गए लोगों के शोक में अगली तारीख 2 नवंबर को गुजरात में राज्यव्यापी शोक मनाने का निर्णय लिया गया है। इस दौरान सरकारी भवनों पर राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और कोई भी सरकारी सार्वजनिक समारोह, स्वागत या मनोरंजन कार्यक्रम आयोजित नहीं किया जाएगा।

एनडीआरएफ कमांडेंट वी.वी.एन. प्रसन्ना कुमार ने कहा कि हमने आज खोज और बचाव अभियान फिर से शुरू किया। कुछ शव के नदी के तल पर होने की आशंका है। गोताखोरों की मदद से ऑपरेशन फिर से शुरू किया है। इस हादसे पर राजस्थान सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि आज हमारी 5 यात्रा निकलने वाली थी लेकिन मोरबी हादसे को देखते हुए सभी यात्रा स्थगित की गई लेकिन बीजेपी के कार्यक्रम चल रहे हैं। मुझे दुख हुआ की पीएम कार्यक्रम कर रहे थे। हमें उम्मीद थी कि मोरबी हादसे को देखते हुए कार्यक्रम स्थगित किए जाएंगे।

विदेश मंत्रियों ने जताया शोक

बता दें कि अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने गुजरात के मोरबी शहर में पुल टूटने से जान गंवाने वाले लोगों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना जतायी। बाइडन ने एक बयान में कहा, हमारी संवेदनाएं भारत के साथ हैं। मैं और जिल गुजरात के लोगों के शोक में उनके साथ हैं और उन परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हैं जिन्होंने पुल टूटने के चलते अपने प्रियजनों को खो दिया।

तो वहीं हैरिस ने एक ट्वीट में कहा, हम गुजरात में एक पुल गिरने के कारण अपने प्रियजनों को खोने का शोक मना रहे भारतीयों के साथ खड़े हैं। हमारी संवदेनाएं उन लोगों के साथ हैं, जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया और जिन्हें हादसे ने प्रभावित किया।

गुजरात के सीएम की इस्तीफे की मांग

इस हादसे के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल के इस्तीफे की मांग की है। दरअसल राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पार्टी की गुजरात इकाई के अध्यक्ष जगदीश ठाकोर और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस के एक प्रतिनिधिमंडल ने मोरबी का दौरा किया।

वहीं राजकोट रेंज के महानिरीक्षक अशोक यादव ने बताया कि रविवार शाम पुल टूटने की घटना में मृतक संख्या बढ़कर 134 हो गई है। दिग्विजय सिंह ने बातचीत में कहा कि इस आपदा के लिए सरकार जिम्मेदार है और मुख्यमंत्री को नैतिक आधार पर इस्तीफा देना चाहिए। उन्होनें कहा कि मैं कोई राजनीति नहीं करना चाहता, लेकिन मुझे पता चला है कि जब पुल गिरा, तब भाजपा के मंत्री, सांसद, जिलाधिकारी और मोरबी जिले के पुलिस अधीक्षक पास ही एक स्थान पर बैठक कर रहे थे। बैठक जारी रखी और उसी समय घटनास्थल पर नहीं आए।

उन्होनें पूछा कि अधिकारियों से बिना किसी प्रमाण पत्र के पुल को जनता के लिए कैसे खोल दिया। यह मानव-निर्मित नहीं, सरकार-निर्मित आपदा है और गुजरात के मुख्यमंत्री को इसके लिए जनता से माफी मांगनी चाहिए और पद से इस्तीफा देना चाहिए। हालांकि ब्रिटिश-युग के इस पुल का संचालन का काम करने वाली कंपनियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।