दो बच्चो की शव रखकर ग्रामीण ने किया प्रदर्शन

👉 रविवार को कुआ से शव हुआ था बरामद।

👉परिजनो ने आरोपित की गिरफ्तार करने को लेकर जमकर किए हंगामा।

गोपालगंज:- जिले के हथुआ प्रखंड के मछागर लच्छीराम गांव के 2 छात्रों का शव रविवार शाम गांव के चौक स्थित पोखर से बरामद हुआ। जिसके बाद पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम कराया। सोमवार को गांव के लोग एवं परिजनों ने हथुआ बस स्टैंड चौक पर हत्या में शामिल आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर प्रदर्शन किया। बाजार के मुख्य चौक पर दोनों बच्चों के शव के साथ हजारों की संख्या में ग्रामीणों ने पुलिस की लापरवाही एवं अपराधियों की गिरफ्तारी ना होने को लेकर आगजनी की। बता दे कि पिछले 20 जनवरी को राहुल एवं नीरज नाम के दो छात्रों का रस में तरीके से अपहरण कर लिया गया था। जिसकी प्राथमिकी स्थानीय थाने में दर्ज कराई गई थी। प्राथमिकी दर्ज कराने के बाद पुलिस ने डॉग स्क्वायड बुलाकर सुराग तलाशा जिसमें पुलिस को सफलता नहीं मिल सकी ग्रामीणों का आरोप था। कि पुलिस उचित करवाई मे सुस्त पड़ गई नहीं तो उक्त दोनों बच्चों की जान बचाई जा सकते थी। कोई हंगामे के बाद कई थानों की पुलिस को मौके पर बुलाना पड़ा। अनुमंडल पदाधिकारी अनिल कुमार रमन के आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ अनुमंडल पदाधिकारी ने बताया कि पुलिस हर पल ऊपर जांच कर रही है। हत्या के कारणों को खंगाला जा रहा है। नीरज की चाची सोहन बासफोर की पत्नी जिस पर हत्या का आरोप लगा है। उसकी तलाशी के लिए पुलिस लगातार छापेमारी कर रही है। वहीं पुलिस को यह समझने में काफी परेशानी हो रही है। कि महिला अपने पति जा की हत्या पूर्व में हुए विवाद के कारण कर सकती है, लेकिन गांव के दूसरे बच्चे की हत्या क्यों करेगी। इसको लेकर हर पहलू पर जांच की जा रही है। हथुआ थाना अध्यक्ष विमल कुमार सिंह ने बताया कि पुलिस द्वारा हत्यारों को किसी भी स्थिति में नहीं बख्शा जाएगा इस अपराध में शामिल हर शख्स को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जाएगा। वहीं ग्रामीणों की माने तो पिछले 2 वर्ष पूर्व सोहन बासफोर का बेटा दीपक की तालाब में डूबने से मौत हो गई थी ।घटना के बाद सोहन बासफोर की पत्नी मालती देवी ने अपने बच्चे की हत्या का शक अपने देवरानी पर लगाया था। साथ ही उसने कहा था कि वह इसका बदला जरूर लेगी वहीं घटना के बाद से सोहन बासफोर की पत्नी मालती देवी घर छोड़कर फरार है।