कौमी एकता सप्ताह के दौरान महिला सशक्तिकरण विषय पर सेमिनार का आयोजन।

दिघवारा/जनादेश।। सोनपुर के मण्डल रेल सभागार मे कौमी एकता सप्ताह के दौरान महिला सशक्तिकरण विषय पर सेमिनार का आयोजन किया गया। जिसमें उपस्थित महिला रेलकर्मियों को संबोधित करते हुए मंडल रेल प्रबंधक अतुल्य सिन्हा ने कहा कि महिलाओं से जुड़े सामाजिक आर्थिक राजनैतिक और कानूनी मुद्दों पर संवेदनशीलता और सरोकार जरूरी है सशक्तिकरण की प्रक्रिया में महिलाओं को सही दृष्टिकोण से देखा जाना जरूरी है समाज और राष्ट्र के विकास में महिलाओं की भूमिका किसी भी हिसाब से कम नहीं है रेलवे में भी महिलाओं को समान अवसर प्रदान किया गया है और गाड़ी परिचालन, स्टेशन संचालन, सिग्नल मेंटेनेंस जैसे गैर परंपरागत क्षेत्रों में भी महिलाओं को समान अवसर प्रदान किया जा रहा है ।
जनादेश अख़बार का अपने हॉकर से मांग करे !
इस अवसर पर  महिला कल्याण संगठन सोनपुर की सचिव अनामिका यादव ने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए आर्थिक स्वावलंबन जरूरी है । ग्रामीण समाज में जहां लगभग 40% महिलाएं कामकाज में लगी हुई है वही शहरों में मात्र 17 प्रतिशत महिलाएं ही कामकाज में लगी हुई है । महिला कल्याण संगठन की सदस्या पुष्पा सिंह ने कहा कि शिक्षा महिला सशक्तिकरण का एक  महत्वपूर्ण पहलू है । उप मुख्य कार्मिक अधिकारी आईआर शिवानी नारायण
ने कहा कि किसी भी समाज के निर्माण एवं विकास में महिला और पुरुष दोनों की परस्पर सहभागिता व साझेदारी अत्यंत आवश्यक है ।  अपर मंडल रेल प्रबंधक पी के सिन्हा ने कहा कि महिला एवं पुरुष को समाज रूपी गाड़ी के दो पहिए के रूप में लिया जाना चाहिए । कुछ समाजों में म महिलाओं को उपेक्षित रखा गया है । इसी उपेक्षा के कारण महिलाओं का आर्थिक और शैक्षणिक पिछड़ापन बढ़ा है । वरीय मंडल विद्युत अभियंता सामान्य किशोरी लाल ने कहा कि मजबूत समाज की स्थापना के लिए महिलाओं की समाज में सशक्त भागीदारी आवश्यक है । सेमिनार में  सेलिना प्रेमा टोप्पो,  अणिमा, ज्योति, अंशु कुमारी, बबली कुमारी , चांदनी कुमारी आदि ने भी अपने विचार रखे । मंडल रेल प्रबंधक अतुल सिन्हा ने उक्त कार्यक्रम में विचार रखने वाले प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी   किया । कार्यक्रम का संचालन मंडल कार्मिक अधिकारी अरविंद कुमार शर्मा ने किया ।